Best Love Romantic Status And Shayari in Hindi | Cute Love Quotes

 Best Love Romantic Status And Shayari in Hindi | Cute Love Quotes

Best Love Romantic Status And Shayari in Hindi | Cute Love Quotes


दुनिया में हर रिश्ता किसी न किसी तरह के प्यार से जुड़ा होता है। अगर दुनिया में प्यार नहीं होता तो यह दुनिया बेरंग होती, यह प्यार जो इस दुनिया में रंगों और पसलियों में मिठास भर देता है। वैसे, किसी को प्यार दिखाने का कोई बहाना नहीं है, यह सिर्फ एक कहानी है।


Love Romantic Status And Shayari in Hindi


आज फिर से हवन न रुख बदला है

आज फिर से फिजाओं में रंग ढाला है

मेरे दिल को हमशा हो रहा है एहसा

शयद केसी से इकरार हो गईला है।


आखिन खोलू तोह चेहरा तोहरा हो

बंद करु तोह सपना तुम हो,

मार भ जौ तोह कोय गाम नहि,

अगार कफन के बडले अचल तुमहरा हो।


ना जाने वो कौन तेरा हैबी होग

तेरे हाथो मैं जिस्का नसीब होगा

कोइ तुम चले ये कोइ बैद नहि

जीसको तुम चाओ वो ख़ुश नसीब होगा…


ऐ दिल के कह मन एक काम कर दो ।।

एक बी-नाम सी मोहब्बत मेरे नाम क्रदो

मेरी ज़ात पर फ़क़त इतना एहसान कर दो ।।

केसी दिन सुबाह को मिला,

या शम कर दो .. !!


वो इस् तरहा से इश्क़ अपना जाना है,

तोड केर बागो से कइ फूल ले आते हैं,

हम कहे भी उन्को कुछ भी जुबां से,

नजाने कैस वो मेरे दिल की बात समाज जात हैं


Uss Ki Yaad Yaadgaar Ban Gayi Hai

जो दिल में दो पाल थार गया है कोई


प्यार में मिला जरुरी नहीं,

प्यार में इजहार भी जरुरी नहीं,

जरुरी सिरफ एहसस है जो जिंदगी सांवरे,

अन पना ये ना जाना जरुरी न…


अगार मेन हद सी गुज़ार जाउ तोह मुज माफ़ कर्ण,

तेरे दिल में उतारे जाउ तोह मुजे माफ करना,

राते में तुझे दे के, तेरे दीदार की खातिर,

पाल भर जो थेर जौन तोह मुजे माफ़ कर्ण!


प्रति करु अब,

दिल को नजने क्यूं मासूम लागी हो तुम,


नहि तुम सिय कोइ शिखायत

बस इतनी सी ख्वाही है

जो हल कर गइ हो खबी ए कर देख जन



क्यू बर बार ख़ुद को ऐ दिल मेरा दे कर

मेरी इकलाती मोहब्बत को नाज़्र लगते हो


मन ही हमलाट सी मज़ूर रह गई है

फ़िर भी तेरे ख्यालों में मेरे चूर रह गए हैं

एखन मे रहि रहि तस्वीर तुमहारी

क्या हुआ हम तुम दरवाजे-दरवाजे रह गए हैं



इत्ने खूबसूरत हो तुम,

और किटने हो प्यारी तुम,

सच में हो या फिर हम आपके हैं इत्तेफाक से,


प्रेमी के लिए Hindi में लव शायरी


हमने इन अद्भुत अंग्रेजी प्रेम शायरी को आपके प्रेमी के साथ साझा करने के लिए संकलित किया है। आगे बढ़ो और उसे लाड़ प्यार! आखिरकार, वह आपका राजकुमार है।


मेरी ज़िन्दगी का रखवाला तू

फेर क्यो करु मीन फिकर जमने की

मेरे साथ होया है हरपाल

तू फिर क्या मजाल दम के पास पास का


वो अकार हमे पूचते ।।

जिंदगी क्या या मात क्या है ??

हम दिल ही दिल में,

तुझे पा लिया को ज़िन्दगी,

तुझे खो दिया


जेतना प्यार है आसे,

उससे और जियादा को को जी है,

जेन वो कौनसी खोबी है आप में,

की हर रिशता आना बन्ने कोई जी चाहता है।


यादो मुख्य कभी आप भी खो गए होगे

खलि आंखो से कभी आप भी हो गए

मन हसना है आज गम चुपाने की

परि हस्ते हस्ते कभी न रोये होगे।


कुच सिमटी हुई छोटी सी दुनी है मेरी,

इस दिल के गहराइयों में आपको ले जाए कौन।


चालो मुसकुराने की वाज धुंडते है

तुम ही धुंडो हम तुम धुंडते है


मुस्कान बान जात है,

दिल की धड़कन बन गई है कोई,

कैसे जीये एक पल भी अन बिन,

जब ज़िंदगी जीनी की वजा बन जात है कोई


लघु प्रेम शायरी हिंदी में


कीतनि प्यारे ह्वै चलै रहैं हैं

लगत है नाइक इन्सान मार गया है कोई


मद्धटन के बात धुप निकली है

गिले ज़ज़बे सुख राहें हम


मुजसे मत पुच की क्यूँ आंखें झुका ली मैने ।।

तेरी तश्वीर थी इन आंखें में वो तुझी सी छो


हमे इतना न हो हो के तुम भी भूला दे,

एक तुम हो जो कभी भूल से भी मुजे याद नहीं आता!


आप हसीन होतो कोई केसी परदे मैं छीपा लिया करो,

हम जरा गुस्ताख लोग एच,

नजारो से चुम लिया कर्ट है


अज भें वो म्हग तुम्हार पात धूंधर ह ।।

जिस्म लिखा था..इक बर तोह पुछलो कैसा हुन माई


अब क्या लखना भी बन्ध कर दू इतना भी हिक न मुजे जेने का


तमां समझौता जो अपना मुजकोना राह ये जमाना बेगाना


चांद को छों की हिम्मत आ गईिया से खुदा से नाजरीन मिलाना


आज तक आपनी खामोशी में भितरी नवाज पा रहा है हम


2 लाइन लव शायरी हिंदी में


मुजे इक गलती कर के इज्जत हो…

माई फेर से मोहब्बत करुंगा तुमसे


कहँ आंसुँ की ये सौगत होजी

नय लाग होंग नयै बाट होगि


आंखो में दिन रात बरसात होगयी

आगर ज़िन्दगी सिरफ जज़्बात होगी


ज़िन्दगी जीने के लिये मिली थी,

मेन उस्के इंतेजार मे बिता दी


मेरे पस मेरे हबीब आ ज़रा और दिल से करब आ

तुझ ढडकानो में बासा लोन मेन की बिचदाने का कोई डर ना हो


तू नारज न रह क्र तुझसे वास्ता है

खुदा का एक तेरा वो चेरा ख़ुश देख कृ तो हम अपना घूमे हैं।


कुच खस नहि बस इतनि देखि मोहब्बत मेरी,

हर रात कै आखरी खयाल और हर सुभ की पावली सोख हो तुम


अब तक वतन उत्तार है खुशबु नहीं कफले,

भूलै से लइक दीया था तेरा नाम जीस जग!


अब ह्म देख भी ना पोगे

इतन नजदिक आ रह हम


तेरे चेहरे में मेरा नूर हगा

फेर तू ना कभी मुझसे द्वार होगे

सोच क्या खुशी मिलेगी हमसे पाल

जीस पाल तेरी मांग में मेरे नाम का


उसने मुजसे पुच प्यार किया है,

मेने काटों पे चल के दीखा,

उसने पूचा किटना प्यार कटे हो मुजे,

मैना पुरा आसमन दीखा दीया,

उसने पूचा केसे राखोगे प्यार को,

मेने महकता हुआ गुलाब दीखा,

उसने पुछ केसे रहोगे मेरे साथ,

मिले ज़मीन पर अपना साया दीक्षा दी


तुम जस रस्ते से छो आ जाना,

मेरे चारो तरफ़ मोहब्बत है।


यद तोह हर कोई करीगा जाने के बाड़े

साचे प्यार का पाता चल जायगा वकत आ के बड़

कौन किटनी मोहब्बत कर्त्ता है नज़र आजायेगा मार जाने की बात।


ज़िन्दगी भर हम तुम्हारे हैं दगाबाज़ के हैं,

हम तुम बाते डेनगेट दो बंदिशे ज़मने की

एक दूनिया नइ हम बस दिगे।


उनका मिलन भी एक खुबसूरत कहनी होगई,

उनक प्यार पे हाय जिन्दगी होगई,

मुसकुराहट भई अन के दम से होगई,

अग्र वो दरद भई दे टू उन्की मैं


उदास नाज़्रोन में ख्वाब मिलेंगे,

कहिन काँटे से कहिन गुलाब मिलेंगे

मेरी दिल की किताब को अपना नज़र से दीखो,

कहिन आप की याद्दाश्त से लेकर मिलेंगे!


मोहब्बत मुजे आप से हुस्न से नहीं

aapke Kirdaar Se Hai

वर्ना हसीन लॉग टू

बाजार में सर-ए-आम बीका काटे हैं


खूबी आँटी है जब ... याद तेरी बहती है,

धोप मेन,

चैंव मेन,

घाटन मेन,

तेरी सोरत उभार के आटी है!


एक गुजारिश है तुझसे जरा थाम के बरसाना,

आ जाबे जब मेरा मेहबूब से फिर से जम के बरसाना,

यूं पेहले ना बरसना की वो आ ना साकी,

ऐ जाई मेरे पास से इतना बरसाना की वो जा ना साकी


मैं कुछ लम्हा या तेरा साथ रहा हू,

जो आंखो में बस गए वो बरस छठ हू,

सुणा एच वो मुज बहोत चहता एच,

बस एक बर मीन प्रयोग सुन्ना चहता हू।


रब करे ज़िंदगी में आइसा मुकाम आया,

मेरी रूह और जान तेरे नाम,

हर दुआ में बस येही मांगते हैं रब से,

की अगल जनम में भी आके नाम के साथ मेरा नाम आया।


चहो को दिल से हमको मिटे देना,

चहो से हमको भुला देना,

पर ये वाडा कारो की आय जो कभी याद हमरी

रोना नहीं बस मुस्कुरा देना!


मन दिल से प्यार किया।

धुन दिल साईं बारबद की।

धुन क्यूं दिल का सहारा लिया।

धुन क्यूं दिल हमरा लिया।


हमरे बिछिया के नज्दिकियन कभी काम ना हो

खुदा करे तुम कभी भी गम ना हो

जस दिन तुते ये रिस्ता अपना

खुदा करे हमसे दिन है जहान मैं हम ना हो


उडस हौं पर तुझसे नरज नहीं

तेरे दिल में हूं पर तेरे पास नहीं हैं

सब को हें मेरी पास पास

पार तेरे जायसा कोई ख़ास नहीं


प्यार एक बादल की तरह है,

प्यार एक सपने की तरह है

प्यार एक शब्द और बीच में हर बात है

लव इज़ फेयरटेल कम ट्रू

क्योंकि मैंने पाया जब मैं तुम्हें प्यार करता था!


आंखो में जो नूर ना होटा,

तन्हा दिल मजबूर ना होटा,

हम आप खो गुड नाइट कहे,

अगार आपा आशियाना हमसे द्वार ना होटा।


दिल अनके लिये वह मचलता है

थोकर खात है या संभलता है।

केसी ने क्या कादर कर लिया दिल पार काजा

दिल मेरा है प्रति अनके लीये धड़कता है ...


चह के भी कभी ना तुमको भुला पावेंगे हम

कटे हैं वाड़ा ये निभा पेेंगे हम

खुदा को फन्ने कर दिया है जहान से हम

पार नाम तेरा ना दिल से मीता पायेंगे हम…


अबी इस तराफ ना निगाह कर्मैन ग़ज़ल की पलकें सँवर लून

मेरा लफ़्ज़-लफ़्ज़ हो ऐनातुज़े ऐ दिल में उतारे लून


वो मेरे दिल प्रति सर राख के सोई थी बीखबर

ह्मणें धडकन हाय रोक लि कहि निंद ना टूट जाय

एर कास्ज़


दिल प्यार के बिना खाली है

बुद्धि के बिना मन खाली है

आंखें बिना सपने के खाली हैं

जिंदगी तुम्हारे बिना खाली है मेरा पसीना दिल


जबसे दिल है नाज़रो ने आपको,

इनको और कुच्छ भी नज़र न आए,

ना जाने कैसा क्या है अपना,

कोई और चेहरा इस्को एन


प्यार के आँच से पाथर भई पिगल जात है

साचे दिल से साथ दे नसीब भाई बादल जाट! ए है

प्यार का रहन पार मिल जाए सच्चा हमसफर

को किटना भई गिरा हुआ इन्सां भी संभल जात है


बिथा के सौम्य जी भर के दीदार कर्ण

एक रोज बाहों में भर के प्यार कर्ण

मेरि माजबोरी समुझना शिकवा एन कोई कर्ण

हम तेरे ही रहंगे हमार ऐतबार कर्ण


ज़िन्दगी में कुच्छ सपने साजा,

आगर वक़्त मिले को कुच अरमान जग लीना,

हम आपके हैं से सब डार चुप लेगी,

जबा है हमैन आजमा लेना ...


बरी गुस्ताखियां कर गए हैं मेरा दिल मुझसे,

ये जब से उस्का हुवा है मेरी सुनीता हाय नहीं !!


ना जाने वो कौन तेरा हैबी होग

तेरे हाथो मैं जिस्का नसीब होगा

कोइ तुम चले ये कोइ बैद नहि

जीसको तुम चाओ वो ख़ुश नसीब होगा…


सुकन मिलत है जब अनत बात होति है

हज़रत रतन मे वोह एक रत होति है

निगाह उथकर जब देखते हैं वो मेरी तरफ़

मेरे लिऐ वोही पाल गरीब कायात होति है


 हकीकत जान लो जुदा हो गए से,

मेरी सुन लो आपनी सुनाने से पहिले,

ये सोचे लेना भुलाएं से पाहले,

बहोत रोई हैं ये आंखें मुसकुराने से पहिले।


हम बी मौजूद तेरा ताकेदार के दरवजे पार

लॉग दौलत पार गिरी हमनी तुझ मांग लिआ


मैं काबिल ई नफ़रत हूं तू चोर दे मुज को

तू मुज से यूं दीखावे की मोहब्बत ना किय कर एर कस


साहिल बनकर तुम ज़िन्दगी कोदिया वो अनमोल नज़राना है


तम आपनी पलको की परछिया मुजे दोदो

तम आपनी शम की तनहाईं मुजे दोदो

मुख्य दोब जौ आपकी उदास आखों में

आपनी दार की आवाज गेहिरन मुजे डेडो


ज़िन्दगी में कुछ लम्हे ख़ास बन गए,

मिले से मुलतक़ बान गे,

बिचड़े से याद बान गे,

या जो दिल से ना गाये,

वो आप बान गे।


कोइ कहत है प्यार नशा बन जात है

कोइ कहत है प्यार सा बान जात है

पार प्यार करो सच सच दिल से

To Wo Pyaar Hi Jine Ka Waja Ban Jata Hai!


जगया उनोन आइसा के आज तक तो ना सकके

रुलाया अनोन आइसा के सबके साथ रो भी न सकके

जाने क्या बात है अनन में

जबसे माने उन्हे अपना तबसे कैसी हो ना…


Kisi Ki Mohabbat Ka Aitbar Nahi का प्रयोग करें

जमने न शयाद बहत चरण है


आपकी अदा सी हम माधोस हो गए,

आप न पल कर दे हम को होश गाये,

येही एक बात कहनी थी,

ना जाने क्यूं अपना देखते ही हम खामोश हो गए।


तेरी अंखियां जब जुक कर उठी को नशा बान गया

हमे पाँव हाय निन चला ई दोस्त

कब है दिल तुमरे ये दिल मेरा है बन गया।


अनोन देखा और आंसु गिर पडे,

भरि बरसत मीन जइसे फूल बिकार पाडे,

दुःख नाही के अनमने हम अलविदा कहे,

दोख ते ये हम के बड़ वो खोद रो पडे ।।


मुजे छटे होंग या भई लोग बोहत।

मगर मुज को मोहब्बत सिरफ आपनी मोहब्बत से है


कौन जेन कूब मूत का पैगाम आ जाए,

ज़िन्दगी की अखरी शाम ए जय,

हम तो धुन्धते हैं वक़्त आइसा जब,

हमरी ज़िन्दगी अपना काम आ जाय


ना सावल बांके मिला करो,

ना जवाब बांके मिला करो,

मेरी जिंदगी मेरा ख्वाब है,

मुजे ख्वाब बांके मिला करो ...


क्या मंगू खुदा से आपको पान का बुरा

किसका करु इंतेजार आपे आ के खराब

क्यूं दोस्तो पे जन लुतेते है लॉग

मालुम हुआ आपको दोस्त बन के बुरा।


काश आपकी सूरत इटनी प्यार न होति

काश आलाप मूलक हमारि न होति

सपनो मैं ही देख लेत हम

आपे तो आज मिलनी की इतन बेकरारी ना होति


ये दिल ना जाने क्या कर दिया।

मुजसे पुछे बीना हाय फैसला कर बैठा।

इज़ ज़मीन पर टूटा सितार से नाहि गीता।

और ये पागल चंद से दोस्ती कर बैठा


चिरगांव को आंखो में महफूज रक्खा

बादि दुर तक राते हाय राते होगि


यूं दुर रहकर दुरियॉँ को बदया न काटे,

आपे दीवानो को सत्य नहीं कहा,

हर वक़्त बस जीस तुमहरा ख़्याल हो,

यूटी अप्नी आवा के लिये तडपया नहीं काटे!


हर फूल की अजब कहानी है,

चुप रहिये प्यार की निशानी है,

कहि कोइ ज़ख्म नइ फिर भी, क्यूँ दरद का इहसास है,

लगत है दिल का एक टुकडा आज भी हमारे पास है


मिला था एक हाय दिल जो तुम को दे दिया

हज़ारन दिल बी होटे तू तेरे लीये होटे


प्यार में कोई दिल टुट गया,

जिंदगी मैं कोई भरोसा टोटका है,

जिंदगी जीना तो कोई गुलाब से सिख,

जो खुद तुतकर दो दिलन के


यूं खली पलकें झूका दीने से नीद नहिं आटी

सोते वोही लोग हैं जिन के लिये कोई जग जाना


प्रेम परीचा को पेहचान बन देथा है,

प्रेम रिजीस्टैन को गुलइस्तान बाना डेटा है,

मुख्य अपणी आप-बीती कहूँ गैरों की नहीं,

प्रेम इंसां को भागवां बाना डेटा है।


अभि आंखें की शमीं जल राही हैं प्यार ज़िंदा है,

अबी मायूस मत होणा अबी बेमार जिंदा है!

हज़ारों ज़ख्म खाकर भी माई दुश्मन के मुक़ाबिल हुन,

खुदा का शुक्र है अब तक दिल खुद्दार जिंदा है !!


आरजूं की सुरख फूलन सेदिल की बस्ती साजा रहा है हम


काश के आइसा भी हुआ होटा

मेरी कामी न तुझ बी उदास किआ होटा

लॉट एते एक पाल मेरे तेरे पास

तेरा लबो न मेरा नाम से लिया गरम


सों लिने से पहिले मैं कर आरज़ देति हुईं

शायरी मैं यारों दिल के राज खोल देनी हुई

कुच आपनी कुच उन्की कहानी बहोत हैं

माइला माइला कार Kissey Mein दुनिया Ko बोल Deti हुन ...


हस्ते रहेन आप हमारो के बीच में,

जाईस जल्द ही फूल फूल बहनों के बीच में,

रोशन हो आप दूनिया में इस तरहा,

Jaise Hota Hai Chand Sitaron Ke Beech Mein…


अंखिन से प्यार में दिली जुबां होति है,

साची चहत ते सदा बेजुबान होति है,

प्यार में मरद बई मील से क्या घराना,

सुनै दरद से चहत और जवान होति है ।।


होकर तेरे प्यार में शमिलुम्ने ख़ुद को इस तराह पेखाना है


वो मेरे लिये कुछ खस है यारो,

जिन्के लुट अाने की ना कोई आस है यारो,

वू नजारो से द्वार है तो क्या हुआ,

बांके दिल की धड़कन मेरे पास है यारो…।


एक चीर के तलश में हम दुनी से खफा,

अज वो हमरे साथ है,

दूनिया हमसे खफा है ।।


मुख्य खुशी हु की,

मेरी बात तो कर्ता है।

बूरा कहता है क्या,

वो याद को कर्ता है।


ज़िन्दगी में कुछ लम्हे ख़ास बन गए,

मिले से मुलतक़ बान गे,

बिचड़े से याद बान गे,

या जो दिल से ना गाये,

वो आप बान गे।


ये मत पुचो तुम बिन हम क्या कहना है,

तुमहारी यादों में हम रो किटने रोते रहे,

ना दिन गुजरे है ना रातें,

बस कुच बेखिन से हम हो गए!


जसकी याद मुझे सारे जहाँ को भुल गाइ

सुण है आजकल वो हमरा नाम तक भुल गइ

कसम खाइ थी जिस्ने साथ निभाने की यारो

अज वो हमरी लश पार आना भुल गे


बेवजह हम वजाह धुंडते हैं तेरे पास कोई को,

ये दिल बेकरार है तुझ धड़कन में बसने को,

बुझि नहि होइत होथो अबी में,

ना जाने कब मिलेगा सुकून मेरे पेमन को ।।


कभी यूं भी ऐ मेरी आंख में,

के मेरी आंख को खबार ना होमुज एक रात नवाज डे,

मागर उसके बड सेहर * ना हो


अनस रोझ मिलन को दिल कर्ता है

कुच सन-न सुनाने को दिल कर्ता है

केसी के मनाने का अंदाज़ आइसा है

रोज रोते जान को दिल कर्ता है


लखने से पेहले सलाम करे है दर-ए-दिल से

पैगाम कटे है ये मात समाज के हम भुल गइ है

याद तुझे हम सुभा-शाम करे है ...


मुसकुराना मेरी आदात है आंसुं को छूप कर,

पार हर घम को आपनी हसी से बेहालूं कैस।


 आप से दरवाजा हो कर हम जय का,

आप जैस दोस्त हम पे,

दिल को कोई भी संभल,

पार आंखो के आंसु हम चुप्पेगे काहा।


आई नेवर सर्चिंग बट आई फाउंड यू

मैंने कभी नहीं पूछा लेकिन आई हैव यू

आई नेवर वांट फॉर एनीथिंग बट इट्स कम ट्रू

आई जस्ट वांट टू थैंक गॉड

मुझे आप की तरह एक प्यारी पत्नी देने के लिए!


ज़िन्दगी बेवफ़ा है ये मन मगर

छोड कर रहह जोगे तुम अगार

चेने लौंगा मुख्य आसमन से तुम

सुना होगे ना ये,

करो दिलों का नगर।


मोहब्बत मिल नहीं शक्ति,

मुजे मालूम है… !! मगर खामोश बैठा हुन,

मोहब्बत जो कर बैठा हू!


आंखें मुझे रही वालो कोई याद नहीं,

दिल मेरा रहनें वालो की बात ना कटे,

हमरी से रूह मेरे बस गइने आप,

तबहि ते हम मिलन की फरियाद नहि काटे


सब तेरे मोहब्बत की इनायत है वर्ना!

मुख्य क्या .. मेरा दिल क्या ..

मेरा अंदाज़-ए-जूनून क्या… .मेरी शायरी क्या!


तमाम उमर मेरा दम इशी धूयिन में घुता

वो इक चेराग थ मांण प्रयोग बुझाय है


मेन खुदा से एक दुआ मांगी,

दुआ मैं अपना मौटी मांगी,

खुदा न काहा मुत तो तुझे दे दून,

पार उस्का क्या जिस्ने हर दुआ मैं तेरी जिन्दगी मांगी!


हर चीज हैड मेन अची लगती है मगर तुम भी हद होती है


तू चांद और मेन सितारा होटा

अस्सलामन में एक आशियाना हमरा होटा

लॉग तुम्ही द्वार से देखते

नज़दीक से दीखने का हक बस हमरा होटा


दुर न जया कर दिल तड़प जटा है

आपे ही ख्याल में दिन गुजार जात है

अज पुच है दिल ने एक सांवल हम

डर रे कर आपको भी हमरा ख्याल आ गया।


तमाम उमर केसी यार का इंतेजार करे

आखीर दुनिया से गुज़ार गई है कोई


गेहरी बाते समुझने के लिये गेहरा होना झुरुरी है

और गीहरा वही हो सकता है जिस्ने गेहरी चोट खाए हो


दिल कर्ता है की तुझ देखे जान

तेरी हर अदा को अपने दिल में तश्वीर पे लुन

काश तुम चंद की जय होति

इति दुरी से भी तुमको मुख्य देख पून…!


फूल बंकर मुस्काराना ज़िन्दगी,

मुस्कारके गम भुलाना ज़िन्दगी,

जीत कर कोई खुशी हो गई क्या,

हर कर खुशियां मन में ज़िंदगी…



ये कैसा है एहसा,

तू है तू दिल के पास,

नीन्द है की आटी नहीं,

और बड़ती जाती है प्यार !!!


केहना हाय पाड़ा उसको ये खट पढ कर हमरा

कम्बखत की हर बात मुहब्बत से भरी है।


वो इस् तरहा से इश्क़ अपना जाना है,

तोड केर बागो से कइ फूल ले आते हैं,

हम कहे भी उन्को कुछ भी जुबां से,

नजाने कैस वो मेरे दिल की बात समाज जात हैं


होथ मिला दै मेरे हाथ से उसन ये कह के

सिगरेट पीना चोद दो तो जानम रोजा मिलेगा


क्यूं तुमारे आशिक का परवाणो मैं नाम लेटे हो

केह कर के दिल दोगे हम जान लेटे हो।

पात है नहि राख सकत हम आपन धदनको पे

काबु फिर क्युन हमरी मोहब्बत का इम्तेहान लेट हो।


हर बार हम पार इल्जाम लागा देत हो मोहब्बत का,

कभी ख़ुद से पुछा है की इत्ते हसीन कु हो… !!


सदक से महकती हुई है का ज़ोका लेहराई बहुत लग गई है तुम हो।


शिकायत ना केजीगा फिर हम से शतानी की,

दिल हमरा,

मचल जात है गले से लग कर तुझ को


बहुत उडास है कोई तेरे जेन से

हो सकत से लौट आ केसी बहेन से

तु लख खाफा साहि मागर इक बार देख

कोइ तोत गया है तेरे रोत जेन से


जान है हम जान से प्यारी,

जान के ली छोड दू दुनीया साड़ी…

जान के ली छोड दू रसम साड़ी,

अब तुम क्या चूपना,

तुम ही हो जान हमरी!


तुझसे रु-ब-रु हुकर बेट करु,

निगाहे मिलाकार वफा के वाडे करु,

थम कर तेरा हाथ बथु तेरे समाने,

तेरी हसीन सूरत के नजारे करु,

शर्मा कर नजारो से तेरा कुछ चुपके से जाना,

तेरी निगाहो के वो इशारे समाजु,

तेरी हर एक अदा पार कर के शायरी,

हर लफ़्ज़ मेरे वफ़ा के दाऊ करु,

संभल नहीं संभल ’जाना’ ये दिल की तडप,

तू ही बाता मुख्य कब तक यू आहिन भरु।


हमें के सिवा केसी या को चना मेरे बस मैं नहीं

ये दिल हमारा है अपना हॉट से बात या थी


हम अनके हुस्न में है कादर खो जते हैं

उनको बाटन मे झमने लग जते हैं

एक वो हैं जो पलक उठे हैं

और एक ही नज़र में सब कुछ के जते हैं।


नज़र के सागर में उतर गई है कोई दिल से दिल में कर दिया है को कोई


काश दिल की आवाज़ मैं इतन असर हो,

हम आप याद करेन और आप खाबड़ हो जय,

अज कुदा से इटनी हाय दुआ है,

आप जो भी चाही वो हकीकत हो जय!


चहत की ये काहे अफसाने हुई

ख़ुद नाज़्रों में आपनी बेगाने हुई

किसि भइ रिस्ते कै ख्याल नहि मुजे

इश्क में तेरे हैं कादर दीवाने हुई


हमने दे खा था-ए-नज़र की ख़ातिर

ये ना सोचा था तुम दिल मै उतारे जोगे !!


रहो मेरी ज़ुल्फ़ों की परचाई में और तोते कर मुजको प्यार करो…

अज माई न राहु,

अज माई "तुम" हो जाउ अपना प्यार से आइसा मेरा श्रृंगार


आपन होथोन पार साजा कर तुझे मुख्य

तेरे ही गीत गाते हैं हम

जल कर बुझ जन हमारी किस्मत साहि

बस एक बर रोशन होन चहत हम


हर बात समुझने के लिये न होति,

ज़िन्दगी अक्सर कुछ कुछ भी होता है,

याद अक्सार आटी है आपी,

पार हर याद जतने के लिय न होति…


अनके सेनन मी कबि झनक कार देखो से साहि

किटना रोते हैं तन्हाई मैं औरों को हंसने वाले।


मोहब्बत का मतलाब इंतेज़ार नहीं होटा,

हर केसी को दीखना प्यार नहीं होता,

यूं टू मिलाता एच रोज मोहब्बत-ए-पैगाम,

प्‍यार जिन्‍दगी हे जो हर कोई न होति।


जब चाहिन ईद मन लेिन

चांद हमरा अपना है


कभी रो लेने दो अपने कांधो पे सर राखकर मुजे,

के दरद का बवंडर अब संभल नहिं जात।

कबतक छुपा कर राखें मेरे इसे,

की आंसुं कै समंदर अब संभला नहीं जात।


कहन सी आयी ये खुशबू,

ये घर की खुशबू है ये अजनबी अब और कहीं मैं कौन हूं


6 ओंकार मुजे तुम,

अकेले काहे जोगे,

चहत थोदी बहोत हे,

चहत कहति रुक ​​जाऊ,

अइस मी कैस जोगे,

बरसत थोदी बहोत हे।


मुख्य बिमार-ए-मुहब्बत हूं मुजे क्या घर सेकेमो से

अगार मेरी शिफा चाहो मेरा मेहबूब ले आओ


एक शमा अंधेर मे जलै राखै

सबह होन को है महाउल बनै राखखाना

कौन जाने वो किस गली से Guzrein

हर गली को फूलन से सजाये राखना


मिले हो तो ऐस मिलो,

के जुदा हो गई की जरत न हो,

कहना हो तो कुच्छ ऐस कहो,

के ज़ुबान को भी इज़ाज़त ना हो,

प्यार करो जिंदगी भर के,

करो पाल के कोई सी


मेरी मंगी हुई मन्नत हो तुम,

मेरे चेहर की चामक हो तुम,

मेरी ज़िंदगी की सब अनमोल चिज़,

हां यू कहु मेरा सारा


तजहमे बाट वो कुच अइस है दिल ना दीया तो जाने चली जायगी।


बहोत चह उस्को जीस हम पा ना साके,

ख्यालों में मैं कैसी और कोई ला सक।

उसको दीख के आंसू को पोंछ लीये,

लेकिन केसी अउर को देख के मुसकुरा न सके।


तूं बोहत साले री लिय अपना,

अब मेरे सिरफ मेरे हो गए रहो।


नीन्द मी गिरते हैं मेरी आंखें सी आंसू,

जब तुम हो ख्वाबों में मेरा हाथ छोड देति हो।


यद करण के लिये कोई चीज है,

आप न तो आप की तश्वीर चहीये

परि आप के तसव्वुर हमरा दिल बहला ना सकति

क्योकि वो आप की तरहा मुसकुरा न सकी


तुम बिन कैसी जिया जाए

ज्यौं मुख्य कैस तुम बिन

लमबी है रतिन सदियन से भई

राटन से भी लमबे हो गाये ये दिन।


कैस कहुँ के अपना बाना लो मुजे

बहोन मीन आपनि सम लो मुजे

आज हिम्मत करके के हुन की मुख्य

तुम्हार हुन अब तुम ही संभलो मुजे।


कभी हंटोन पे उन्गलियां कभी गिरेबान खेनेका

उन का अंदाज़-ए-हक जतना हाय बर जाने लेवा 

Post a Comment

0 Comments